September 21, 2021

धोनी के भविष्य को लेकर दिग्गज क्रिकेटरों की अलग-अलग राय, किसी ने कहा खत्म हुआ कैरियर

Spread the love

नई दिल्ली। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने एक बार फिर एमएस धोनी के भविष्य को लेकर हो रही अटकलों के बाजार को गर्म कर दिया है। हुसैन के मुताबिक माही भारतीय क्रिकेट को अभी बहुत कुछ दे सकते हैं, इसकारण रिटायरमेंट का दबाव नहीं बनाना चाहिए। धोनी को रिटायरमेंट के लिए एक शानदार मंच देना चाहिए क्योंकि उन्होनें भारतीय क्रिकेट के लिए जो कुछ किया है,वहां किसी चमत्कार से कम नहीं है। यह बात हुसैन ने बातचीत के दौरान कही। हुसैन ने कहा, क्या धोनी भारतीय टीम में जगह के हकदार हैं? यह सीधी सी बात है। ये नियम हर किसी पर लागू होता है। जितना मैंने धोनी को देखा है, मुझे लगता है कि वह अभी भारतीय क्रिकेट को काफी कुछ दे सकते हैं।

वहीं आकाश चोपड़ा ने कहा, आज हर फैन यहीं सोचता है कि आईपीएल में अच्छे प्रदर्शन के दम पर धोनी टीम में वापसी कर सकते हैं। जबकि मुझे लगता है कि ऐसा बिल्कुल भी सच नहीं है। शायद धोनी ने अपना आखिरी मैच मैनचेस्टर में न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप का सेमीफाइनल खेल लिया है। तब से धोनी अपनी मर्जी से ही टीम से बाहर चल रहे हैं, जबकि उन्हें ड्रॉप नहीं किया गया। शायद धोनी ने भारत के लिए नहीं खेलने का मन बना लिया है।

इस कड़ी में गौतम गंभीर ने कहा, यदि इस बार आईपीएल नहीं हुआ,तब धोनी की टीम में वापसी बेहद मुश्किल होगी। यदि धोनी पिछले एक या डेढ़ साल से क्रिकेट मैदान से दूर हैं, तब फिर उन्हें किस आधार पर वर्ल्ड कप के लिए टीम में लिया जाएगा। लाजमी है कि उसकी (केएल राहुल) की कीपिंग धोनी जैसी अच्छी नहीं है, लेकिन आप गौर करें कि टी-20 में राहुल बहुत उपयोगी खिलाड़ी है। वहां विकेट कीपिंग के अलावा 3 और 4 नंबर पर शानदार बल्लेबाजी कर रहा है।

दरअसल धोनी को सरप्राइज देने के लिए जाना जाता है, उन्होनें फैंस, बीसीसीआई, टीममेट्स को कई बार चौंकाया है। फिर चाहे 2014 में टेस्ट क्रिकेट से रिटायरमेंट लेना हो या 2017 में एकदिवसीय कप्तानी छोड़ना हो, धोनी ने दोनों बार क्रिकेट जगत को एक बड़ा झटका दिया था। इस बार भी माही कुछ ऐसा कर सकते हैं और अगर उन्हें ऐसा करने से कोई रोक सकता है, वहां हैं विराट कोहली क्योंकि भारतीय कप्तान धोनी की बहुत इज्जत करते हैं और उन्हें एक शानदार विदाई जरूर देना चाहते है।

Leave a Reply

You may have missed