September 21, 2021

लंबे ब्रेक से तेज गेंदबाजों की फिटनेस हो सकती है प्रभावित : नेहरा

Spread the love

नई दिल्ली। टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने कहा है कि लंबे ब्रेक के कारण तेज गेंदबाजों की फिटनेस प्रभावित हो सकती है। नेहरा ने कहा कि लॉकडाउन के कारण खिलाड़ियों को अभ्यास का अवसर नहीं मिल रहा है। ऐसे में बल्लेबाज योग और ट्रेनिंग से अपने को फिट बनाये रख सकते हैं पर तेज गेंदबाजों के लिये ये ही पर्याप्त नहीं है। उन्हें जल्द ही दौड़ना शुरू करना होगा। कोविड-19 महामारी के कारण अभी दुनिया भर में सभी खेल गतिविधियां बंद हैं इस कारण शीर्ष खिलाड़ियों को घर पर ही रहना पड़ रहा है ऐसे में वे अपने को फिट रखने के कई प्रयास कर रहे हैं जबकि उन्हें उम्मीद है कि हालात सामान्य होने पर फिर से खेल शुरू हो जायेंगे। नेहरा ने कहा, ‘‘अगर लॉकडाउन 15 अप्रैल को खत्म हो जाता है तो भी सामाजिक जीवन के सामान्य होने में काफी समय लगेगा। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे जुलाई से पहले किसी भी क्रिकेट मुकाबले के आयोजन की उम्मीद नहीं है।’’ नेहरा के अनुसार ज्यादातर क्रिकेटरों के लिये जगह की कमी एक बड़ी समस्या है इसके साथ ही कहा कि तेज गेंदबाजों के साथ यह ज्यादा परेशानी भरा समय है। नेहरा ने कहा, ‘‘तेज गेंदबाजों के लिये दौड़ने के लिये जगह की कमी होती है। लेकिन इन हालातों से बचा नहीं जा सकता। इसलिये जब तक मैदान में अभ्यास नहीं कर सकते तब तक जिसके पास भी 15 मीटर से 20 मीटर तक का बगीचा है, उन्हें एक सप्ताह में तीन बार इस पर दौड़ना चाहिए जब तक वे मैदान पर ट्रेनिंग के लिये वापसी नहीं कर लेते।’’ नेहरा ने कहा कि तेज गेंदबाजों के लिये दौड़ना सबसे जरुरी अभ्यास है। उन्होंने कहा, ‘‘ आपको गेंदबाजी में काम आने वाली मासंपेशियों को सक्रिय रखना जरूरी होती है। इसके लिए तैराकी, साइकिलिंग की अपेक्षा दौड़ना सबसे बेहतर विकल्प होता है।’’ हालांकि उन्होंने छत पर दौड़ने वालों से कहा, ‘‘अगर आप सूर्य नमस्कार कर रहे हो तो ठीक है पर अगर आप भागना या ‘शटल रन’ शुरू करोगे तो आप अपने घुटने और टखनों को नुकसान पहुंचाओगे। इसलिये पेशेवर खिलाड़ियों को पांच सितारा होटल में हार्ड कोर्ट पर टेनिस खेलने से बचना चाहिए क्योंकि ये सीमेंट के कोर्ट होते हैं।’’

Leave a Reply

You may have missed