January 18, 2022

पार्टी के 25 विधायक आज भोपाल में; कमलनाथ से करेंगे मुलाकात, सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल सकते हैं

Spread the love

भोपाल :महिला मित्र सोनिया भारद्वाज के सुसाइड मामले में फंसे मध्यप्रदेश के पूर्व वन मंत्री और गंधवानी से विधायक उमंग सिंघार के लिए कांग्रेस एकजुट होती दिख रही है। उमंग सिंघार के पक्ष में आज पार्टी के 25 विधायक भोपाल में जमा हो रहे हैं। यह सभी सबसे पहले पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से मुलाकात करेंगे। सूत्रों की माने तो यहां से इस मामले में सरकार को घेरने के लिए आगे की रणनीति तैयार की जाएगी।

पार्टी इस मुद्दे को आक्रामक तरीके से उठाना चाहती है। इसके पीछे मुख्य वजह सोनिया के बेटे आर्यन का सिंघार के साथ खड़ा होना है। इससे दो दिन पहले पूर्व मंत्री जीतू पटवारी समेत पांच विधायक डीजीपी से उमंग सिंघार के खिलाफ कार्रवाई राजनीति से प्रेरित बताते हुए मुलाकात कर चुके हैं। शाहपुरा पुलिस ने उमंग सिंघार को सोनिया को आत्महत्या के लिए उकसाने की धाराओं में आरोपी बनाया है।

पूर्व मंत्री की गर्लफ्रेंड के सुसाइड का मामला:सोनिया के बेटे ने कहा- मां ने आखिरी बार नानी से बात की थी; सिंघार पर आरोप लगाने के लिए सबूत नहीं; सिंघार बोले- सरकार परेशान कर रही

पांच दिन बाद सक्रिय हुई कांग्रेस

सोनिया ने 16 मई की शाम सिंघार के घर पर फांसी लगाकर सुसाइड किया था। उस दौरान सिंघार घर पर नहीं थे। घटना के दूसरे दिन रात करीब 10 बजे पुलिस ने सिंघार के खिलाफ FIR कर ली थी। हालांकि अब तक उनकी गिरफ्तारी नहीं की है। इस दौरान सोनिया के बेटे आर्यन ने दावा किया कि न तो उनकी मां ने सुसाइड नोट में सिंघार के खिलाफ लिखा था और न ही उन्होंने सिंघार पर कोई आरोप लगाए। उनके पास सिंघार पर आरोप लगाने के कोई सबूत नहीं है।

आर्यन ने मुख्यमंत्री और डीजीपी को पत्र लिखकर सिंघार के खिलाफ FIR वापस लेने की मांग की है। कांग्रेस पार्टी की पहले तीन दिन तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई, लेकिन आर्यन के सिंघार के पक्ष में खुलकर सामने आने के बाद कांग्रेस अब सिंघार के साथ खड़ी होती नजर आने लगी है। सिंघार प्रदेश में कांग्रेस के लिए एक बड़ा आदिवासी चेहरा है। ऐसे में पार्टी नहीं चाहती कि ऐसे में समय में यह संदेश जाए कि पार्टी ने उन्हें अकेला छोड़ दिया।

पूर्व मंत्री के घर पर महिला मित्र ने की खुदकुशी:भोपाल में कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार के बंगले में फंदे पर मिला शव; सुसाइड नोट में लिखा- तुम गुस्से में बहुत तेज हो, अब सहन नहीं होता

अग्रिम जमानत के लिए आर्यन के बयान का सहारा

विधायक सिंघार के पास पुलिस से गिरफ्तारी से बचने के लिए अग्रिम जमानत लेना जरूरी है। इसके लिए सिंघार आर्यन के बयान के सहारे अपना पक्ष कोर्ट के सामने रख सकते हैं। हालांकि पुलिस का कहना है कि सारे सबूत जमा करने के बाद उनकी गिरफ्तारी की जाएगी। हालांकि पुलिस फिलहाल उनकी गिरफ्तारी करने से बच रही है।

MP में कांग्रेस विधायक पर केस दर्ज: विधायक की महिला मित्र सोनिया ने की थी खुदकुशी, उसके बेटे आर्यन और नौकरों ने पुलिस से कहा- सोनिया और उमर सिंघार के बीच होती थी नोंकझोंक।