January 17, 2022

मेरठ के अभिनव चौधरी शहीद हुए फाइटर पायलट पठानकोट एयरबेस में तैनात थे,

Spread the love

नई दिल्ली। पठानकोट पंजाब के मोगा में गुरुवार देर रात भारतीय वायुसेना का मिग-21 लड़ाकू विमान क्रैश हो गया। इसमें पायलट अभिनव चौधरी शहीद हो गए। उनकी 17 महीने पहले ही शादी हुई थी। उस समय उनकी शादी काफी चर्चा में रही थी। दरअसल, उन्होंने ससुराल से दी जा रही नकद धनराशि ससम्मान लौटाकर शगुन में सिर्फ एक रुपया लिया था। अभिनव मानते थे कि शादी में दहेज की कोई भूमिका नहीं होनी चाहिए। दो परिवारों को जाेड़ने के लिए दहेज का लेनदेन जरूरी नहीं है। वे मानते थे कि दहेज प्रथा पर पूरी तरह रोक लगनी चाहिए।

उत्तर प्रदेश के बागपत जिले के बड़ौत-बुढ़ना रोड स्थित पुसार गांव निवासी अभिनव चौधरी का परिवार सी-91 गंगासागर कॉलोनी में रहता है। उनके पिता सतेंद्र चौधरी किसान हैं। 25 दिसंबर 2019 को अभिनव की शादी मेरठ में ही हुई थी। अभिनव की पत्नी सोनिका उज्जवल ने फ्रांस में मास्टर ऑफ साइंस की पढ़ाई की है।

देहरादून से शिक्षा, पुणे में ट्रेनिंग

अभिनव चौधरी इन दिनों पठानकोट एयरबेस में तैनात थे। उन्होंने IIMC देहरादून में 12वीं की परीक्षा पास की थी। इसके बाद उनका सिलेक्शन NDA में हुआ। पुणे में तीन साल के बाद हैदराबाद के AFA में वायुसेना की ट्रेनिंग पूरी की। अभिनव की मां सत्य चौधरी गृहिणी हैं, जबकि एक छोटी बहन मुद्रिका चौधरी है।

हादसे के 4 घंटे बाद मिला पायलट अभिनव का पार्थिव शरीर

यह हादसा मोगा से करीब 25 किलोमीटर बाघापुराना के गांव लंगियाना खुर्द के पास हुआ। विमान के गिरते ही उसमें आग लग गई। SP हेडक्वार्टर गुरदीप सिंह ने बताया कि एक ट्रेनिंग सेशन के दौरान पायलट अभिनव चौधरी ने मिग 21 से राजस्थान के सूरतगढ़ के लिए उड़ान भरी थी, लेकिन यह मोगा में क्रैश हो गया। 4 घंटे की मशक्कत के बाद पायलट अभिनव चौधरी का पार्थिव शरीर खेत से मिला। अभिनव को विमान के क्रैश होने का अंदाजा हो गया था, इसलिए वे उड़ते विमान से कूद गए। लेकिन, पैराशूट नहीं खुला, जिससे गिरकर उनकी गर्दन टूट गई और वे शहीद हो गए।

You may have missed