July 30, 2021

पानीपत” सिर्फ एक फिल्‍म है, इससे अपने पूर्वजों को न जोड़ें : हुड्डा

Spread the love

मुंबई। डायरेक्‍टर आशुतोष गोवारिकर की फिल्‍म “पानीपत” को क्रिटिक्‍स के साथ-साथ दर्शक भी काफी पसंद कर रहे हैं। हालांकि, इस पीरियड ड्रामा को लेकर विवाद भी शुरू हो गया है और इस पर ऐक्‍टर रणदीप हुड्डा ने अपने विचार रखे हैं। दरअसल, फिल्‍म को लेकर राजस्‍थान के भरतपुर के जाटों को आपत्ति है। वहीं स्‍थानीय लोग आशुतोष के पुतले जला रहे हैं। दरअसल उन्‍हें लगता है कि फिल्‍म में महाराजा सूरजमल को गलत तरीके से पेश किया गया है। वहीं सोशल मीडिया पर कुछ लोगों का कहना है कि फिल्‍म में महान मराठा योद्धा सदाशिव राव भाऊ महाराजा सूरजमल से अफगानों के खिलाफ मदद करने के लिए कहते हैं लेकिन सूरजमल बदले में कुछ चीज चाहते हैं। मगर, जब उनकी मांग पूरी नहीं होती है तो वह सदाशिव को युद्ध में साथ देने से इनकार कर देते हैं। लोगों ने बताया ‎‎कि सच इससे परे है। कई लोग इस तथ्‍य पर भी प्रदर्शन कर रहे हैं कि फिल्‍म में जिन स्‍थानीय लोगों को दिखाया गया है, वे राजस्‍थानी और हरियाणवी बोल रहे हैं जबकि वे पूरी तरह से ब्रज भाषा बोलते हैं। इस पूरे मामले पर अब रणदीप हुड्डा का रिऐक्‍शन आया है जो खुद भी एक जाट हैं। इस दौरान उन्‍होंने ट्विटर पर लिखा ‎कि “किसी एक समुदाय का महिमामंडन करने के लिए जरूरी नहीं है कि दूसरे को नीचा दिखाया जाए। इससे ज्‍यादातर गलत प्रभाव ही पड़ता है। भविष्य में ज्‍यादा मच्‍योरिटी की उम्मीद करता हूं।” यही नहीं, ऐक्‍टर ने ट्वीट में आगे उन लोगों के लिए भी मेसेज लिखा जो नाराज हो जाते हैं। रणदीप ने लिखा, “आहत होने वालों के लिए- यह सिर्फ एक फिल्‍म है, इससे अपने पूर्वजों को मत जोड़ें।” बता दें, यह फिल्‍म से जुड़ी पहली कॉन्‍ट्रोवर्सी नहीं है। इससे पहले कृति सैनन जो कि फिल्‍म में सदाशिव राव भाऊ की पत्‍नी पार्वतीबाई का किरदार निभा रही हैं, के एक डायलॉग को लेकर भी विवाद हो चुका है।