सत्तर प्रतिशत विकलांग बच्ची को एम्स जाने में आ रही थी समस्या, अब निगम के संसाधन से जाएगी अस्पताल

सत्तर प्रतिशत विकलांग बच्ची को एम्स जाने में आ रही थी समस्या, अब निगम के संसाधन से जाएगी अस्पताल
Ro No. 12141/19

Ro No. 12141/19

Ro No. 12141/19

चेक का मियाद खत्म, दिलाया दूसरा चेक रिसाली. निदान 40 मेगा शिविर में ऐसे परिवार के सद्स्यों को उम्मीद की नई किरण मिली जब आयुक्त आशीष देवांगन ने कहा कि बच्ची को फिजोथैरपी के लिए निगम संसाधन उपलब्ध कराऐगा। दरअसल वार्ड 40 निवासी 16 वर्ष की आरती को लेकर उसके परिजन पुरैना स्थित सांस्कृतिक भवन शिविर स्थल पहुंचे थे। उन्होंने संसाधन के अभाव में हर माह बच्ची को एम्स ईलाज के लिए ले जाने में अस्मर्थता जाहिर की। शासन की योजनाओं को घर-घर पहुंचाने और समस्याओं का निराकरण करने लगाए शिविर में पहुंचे कठुवा परिवार के सद्स्यों को आयुक्त ने भरोसा दिलाया कि लक्ष्मी को अस्पताल पहुंचाने की जिम्मेदारी निगम की होगी। दरअसल आरती 8 वी की पढ़ाई पूरी कर ली है। वो बचपन से चल नही सकती। एम्स के डाॅक्टरों ने भरोसा दिलाया है कि वह जल्द अपने पैरो में चलेगी किन्तु माली हालत ठीक नहीं होने से परिवार के सद्स्य अस्पताल ले जाने में असमर्थ है। आयुक्त इस समस्या का निराकरण करते कहा कि एम्स ले जाने के 2 दिन पूर्व उन्हे सूचना दे। प्रदेश महामंत्री ने किया शिविर का उदघाटन क्षेत्रीय विधायक व गृह एवं लोकनिर्माण विभाग के मंत्री ताम्रध्वज साहू के निर्देश पर निगम क्षेत्र के 40 वार्डो में अलग-अलग स्थानों पर शिविर लगाया जा रहा है। शिविर का उदघाटन प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री जितेन्द्र साहू ने किया। इस अवसर पर नगर पालिक निगम के सभापति केशव बंछोर, एमआईसी सद्स्य विलास राव बोरकर, परमेश्वर, सनीर साहू, अनूप डे, चन्द्रभान ठाकुर, पार्षद रंजीता बेनुआ, पार्वती महानंद, चन्द्रप्रकाश निगम, आयुक्त आशीष देवांगन, कार्यपालन अभियंता सुशील बाबर व शिविर के नोडल अधिकारी रमाकांत साहू आदि उपस्थित थे। मियाद खत्म हो गया था चेक का पुरैना निवासी राजेश कठुवा को प्रशासन ने 10 हजार की सहायता देते चेक प्रदान किया था। चेक छः माह बाद जमा करने पर आहरण अवधि समाप्त होने पर बैंक ने चेक लौटा दिया था। शिविर में जानकारी देने पर निगम अधिकारियों ने तत्काल एसडीएम से संपर्क कर दोबारा चेक तैयार कराया और हितग्राही को सौपा। वही शिविर में निःशक्त वृद्ध महिला के लिए व्हील चेयर की व्यवस्था की गई। बुजूर्गाे को मिली राहत वैसे तो शिविर में विभागवार समस्याओं का निदान करने 15 टेबल लगाया गया था। सबसे ज्यादा राहत 60 से 75 वर्ष के वरिष्ठ नागरिकों को मिली। कुल 170 आवेदनों में 16 ऐसे थे जो वृद्धा पेंशन से संबंधित थे। इनमंे से 3 पेंशन की पात्रता रखने के बाद भी लाभ नही ले रहे थे। वही 1 राष्ट्रीय पंेशन योजना का लाभ दिलाते व 12 पेंशन रूकने की शिकायत का निराकरण किया गया। इसके अलावा शिविर में 45 लोगों ने राशन कार्ड बनाने, नाम सुधार, गुमास्ता लायसेंस के लिए 6 लोगों ने, प्रधानमंत्री आवास के लिए 11 लोगो को आवेदन उपलब्ध कराया गया। इसी तरह किराना दुकान का विस्तार करने आजीविका मिशन ने ऋण उपलब्ध कराने 1 आवेदन उपलब्ध कराया गया। शिविर में 7 लोगों ने लगभग 23000 संपत्तिकर जमा करने के साथ ही 2 पट्टाधारी हितग्राहियों ने योजना के तहत मालिकाना हक लेने रजिस्ट्री कराने सहमति दी। इसके अलावा 13 श्रमिकों का कार्ड बनाने आॅनलाइन पंजीयन किया गया। शिविर में पहली बार आधार कार्ड बनाने और नाम, पता व मोबाइल नं. संशोधन करने लगाए स्टाल में 40 लोग पहुंचे। आयुक्त शिविर समाप्त होने के बाद मौके पर ही गुमास्ता, राशनकार्ड व पेंश्न प्रकरणों का निराकरण करने निर्देश दिए। आंगनबाड़ी केन्द्र में तत्काल लगा नल पुरैना स्थित दो आंगनबाड़ी में नल नहीं होने की शिकायत पर कर्मचारियों ने तत्काल नल कनेक्शन दिया और टोटी लगाने का काम किया। वही लोकनिर्माण विभाग में आए नाली व आहता निर्माण के लिए प्रस्ताव तैयार कर शासन को भेजा।