November 28, 2021

अंतिम छोर के व्यक्ति तक राशन पहुंचा रही हैं राज्य सरकार: अमरजीत भगत

Spread the love

74 लाख रूपए से बने धान गोदाम और कर्मचारी आवास का किया लोकार्पण

रायपुर. खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण तथा गरियाबंद जिले के प्रभारी मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य सरकार अंतिम छोर के अंतिम व्यक्ति तक राशन पहुंचाने का काम कर रही हैं। खाद्य मंत्री आज गरियाबंद के रसेला में आयोजित भूमिपूजन और लोकार्पण कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। श्री भगत ने इस मौके पर ग्राम पीपरछेड़ी और रसेला में 74 लाख रूपए की लागत से दो विकास कार्यों का लोकार्पण किया। इसमें ग्राम पीपरछेड़ी में 62 लाख रूपए की लागत से निर्मित स्वास्थ्य विभाग के दो कर्मचारी आवास और ग्राम रसेला में 12 लाख रूपए की लागत से निर्मित 200 मीटरिक टन क्षमता वाले धान गोदाम का लोकार्पण शामिल हैं। मंत्री श्री भगत ने आज सर्किट हाउस में एक अन्य कार्यक्रम में 45 स्वच्छता हितग्राहियों को स्वच्छता किट प्रदान किया तथा पुरूष नसबंदी पखवाड़ा के तहत जागरूकता रथ को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।

तथा गरियाबंद जिले के प्रभारी मंत्री श्री अमरजीत

भगत ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य सरकार अंतिम छोर के अंतिम व्यक्ति तक राशन पहुंचाने का काम कर रही हैं। खाद्य मंत्री आज गरियाबंद के रसेला में आयोजित भूमिपूजन और लोकार्पण कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। श्री भगत ने इस मौके पर ग्राम पीपरछेड़ी और रसेला में 74 लाख रूपए की लागत

श्री भगत ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल प्रदेश की लगभग 80 प्रतिशत किसानों के हित को ध्यान में रखकर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार एक लाख करोड़ रुपए के बजट में से लगभग 26 हजार करोड़ रुपए सीधे किसानों के खातों में डालने काम कर रहे हैं। हमारी सरकार बनते ही सबसे पहले किसानों का अल्पकालीन कृषि ऋण माफ किया। राजीव गांधी न्याय योजना के माध्यम से अनुदान सब्सिडी किसानों को प्रदान की जा रही है। इससे किसानों की आर्थिक स्थिति में काफी सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार प्रदेश के अमीर-गरीब सहित सभी लोगों को राशन प्रदान कर रही है। प्रदेश के कोई भी व्यक्ति भूखा न सोए इस संकल्प को लेकर काम कर रही है। कोविड-19 जैसे मुश्किल दौर में भी राज्य सरकार जनता के साथ खड़ी रही। उन्होंने कहा कि पहले की सरकार केवल 7 प्रकार के वनोपजों की खरीदी करती थ, हमारी सरकार आने के बाद वनवासियों के हित में निर्णय लेते हुए 52 प्रकार के वनोपजों की खरीदी कर रही है। तेंदूपत्ता प्रति मानक बोरा 2500 रुपये से बढ़ाकर 4000 रुपये कर दिया गया है। कार्यक्रम में कलेक्टर श्री नीलेश क्षीरसागर, पुलिस अधीक्षक सुश्री पारुल माथुर सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि और ग्रामवासी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।