January 20, 2022

कहां जाएंगे 6 हजार सरकारी अंग्रेजी माध्यम स्कूल के बच्चे?

Spread the love

दुर्ग। स्कूल शिक्षा विभाग के द्वारा वर्ष 2018 में हर विकासखंड में एक प्रायमरी और एक मिडिल अंग्रेजी माध्यम के स्कूल आरंभ किया गया था। पूरे प्रदेश में 153 प्रायमरी और 153 मिडिल अंग्रेजी माध्यम के स्कूल आरंभ किए गए थे। इस वर्ष इन 153 मिडिल स्कूल से लगभग 6 हजार बच्चें कक्षा आठवीं उत्तीर्ण कर कक्षा नवमीं पंहुच गए है और अब इन 6 हजार बच्चों को किस अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में कक्षा नवमीं में प्रवेश दिलाया जाएगा, इसकी कोई ठोस योजना स्कूल शिक्षा विभाग के पास नहीं है, जबकि इन 6 हजार बच्चों के लिए 171 स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों में कोटा निर्धारित किया जाना था जो नहीं किया गया। स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों में प्रवेश हेतु ऑनलाईन फार्म भराए जा रहे है। सरकार के द्वारा अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों को आरंभ तो किया गया, लेकिन इन स्कूलों में अध्ययनरत् बच्चों के भविष्य को लेकर सरकार के पास कोई ठोस कार्य योजना नहीं है, वरना आज इन 6 हजार बच्चों के पालकों को शिक्षा विभाग के चक्कर नहीं काटने पड़ रहे होते।
छत्तीसगढ़ पैरेंट्स एसोसियेशन के प्रदेश अध्यक्ष क्रिष्टोफर पॉल ने इस संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव और संचालक को पत्र लिखकर इन बच्चों के लिए स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों में सीटे निर्धारित कर कक्षा नवमीं में प्रवेश दिलाने की मांग किया गया है।