January 17, 2022

शिवसेना ने की मांग, जांच कमेठी गठित कर पीड़तों के साथ हो न्याय

Spread the love


भिलाई -शिवसेना प्रदेश कार्यसमिति कीअपत बैठक के में गत दिनों हुए बस्तर घटना पर सार्वजनिक बयान के माध्यम से प्रदेश सरकार से अपील की ,की विगत दिनों बस्तर के सीआरपी केम्प का विरोध कर रहे ,ग्रमीणों का सरकार जांच कमेठी गठित कर स्वयं संज्ञान ले क्या है। वास्तविकता ? क्या वाक़ई ग्रमीण उदोलित हुए थे यह उन्हें उकसाया गया ? आखिर कौंन है वो लोग जो लागतार बस्तर को अशांत कर भोले भाले ग्रमीणों को टारगेट करवा रहें है।
सरकार को इस और गम्भीरता से ध्यान देना चाहिये , ओर ग्रमीणों को केम्प के विषय मे सही जानकारी दे उनके सुरक्षा व रक्षा का जिमेदारी लेना चाहिये ताकि इस विषय पर नक्सलियों को लाभ न मिलें , ग्रमीणों पर हुये कार्यवाही से नक्सलवाद को बढ़वा मिलेगा । जिस पर शिवसेना संज्ञान की अपील करती है।
जिन ग्रमीणों को नक्सल बता कर कार्यवाही की गई ,उसपे जांच कमेठी गठित कर उन पीड़तों के साथ न्याय हो ? कंही सरकार की छवि ख़राब करने की कोई बड़ी साज़िश तो नहीं इस ओर भी ध्यान देना होगा ।
विगत 23 जवानों के शहीद होना व एक जवान को कुशल वापसी भी किरकिरी की वजह हो सकती है ।
शिवसेना यह मांग करती है कि बस्तर वासियों के साथ अन्याय न हो और निर्दोषों पर कार्यवाही न हो ,
उपरोक्त निर्णय प्रदेश कार्यालय में प्रदेश प्रमुख धनंजय सिंह परिहार के उपस्थिति में लिया गया , जंहा पार्टी प्रमुख ने उपरोक्त संदर्भ पर प्रदेश सरकार से संज्ञान की अपील करने का पक्ष रख ध्यान देने आग्रह किया ।
उक्त बातें प्रेस के माध्यम से संयुक्त बयान में शिवसेना प्रवक्ता विक्की शर्मा ,प्रदेश कार्यकारणी अध्यक्ष मधुकर पांडये, प्रदेश महासचिव रेशम जांगड़े , सुनील कुमार झा ,व राकेश श्रीवास्तव ने कही है