August 1, 2021

स्मार्ट सिटी के लापरवाह वाहन चालकों ने 1 महीने में पुलिस को कराई 13 लाख रुपये की कमाई

Spread the love

रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजधानी रायपुर (Raipur) भले ही स्मार्ट सिटी (Smart City) के रूप में जानी जाती है, लेकिन यहां के वाहन चालक अभी भी स्मार्ट नहीं हो पाए हैं. इनकी ट्रैफिक नियमों की अनदेखी और लापरवाही के चलते वर्ष 2020 की शुरुआत में ही पुलिस (Police) को अच्छी खासी कमाई हो गई है. बीते जनवरी महीने में ट्रैफिक पुलिस ने 2 हजार 847 वाहन चालकों से 12 लाख 99 हजार 500 रुपये यानी कि करीब 13 लाख रुपये जुर्माना वसूला है.
वाहन कार हो या दुपहिया लोगों की शान की सवारी कही जाती है. शान के चक्कर में लोग यातायात नियमों का जमकर उल्लंघन कर रहे हैं. यातायात पुलिस ने जागरुकता अभियान के तहत 15 हजार हेलमेट मुफ्त में वितरण किए, मगर वाहन चालक हैं कि अपनी जान की परवाह किए बगैर बिना हेलमेट के वाहन चला रहें है. इतना ही नहीं सिग्नल जम्प, तेज रफ्तार, प्रेशर हॉर्न लगाने वाले वाहन चालकों की सख्या भी काफी तेजी से बढ़ रही है.
मौत पर लापरवाही भारी
वर्ष 2019 में सड़क दुर्घटनाओं में 376 लोगों ने राजधानी रायपुर में अपनी जान गवाई थी. यानी कि औसतन प्रति दिन एक मौत हुई. मौत के आकड़ो पर गौर करें तो दोपहिया वाहन चालक और सबसे अधिक सायकल सवार इस दुर्घटना के शिकार हुए हैं. वहीं सड़क दुर्घटनाओं की वजह से हजारों लोग विकलांग भी हुए हैं.
क्या कहते हैं आंकड़े
नए वर्ष की शुरुआत किसी के लिए अच्छी हो या न हो मगर यातायात पुलिस के लिए बेहतर कही जा सकती है. 2 हजार 847 लापरवाह वाहन चालकों को पुलिस ने चालान की कार्रवाई की और उनसे 12 लाख 99 हजार 500 रुपय की राशि वसूल की, जिसमें सबसे अधिक 977 नो पार्किंग, 489 संकेत उल्लंघन, 319 तीन सवारी के प्रकरण थे. इसी तरह बीते वर्ष 2019 में 90 हजार 970 वाहन चालकों पर जुर्माना की कार्रवाई की गई. इन वाहन चालकों से 3 करोड़ 53 लाख 47 हजार रुपये की वसूली राजधानी रायपुर की पुलिस ने की. जिसमें सबसे अधिक 2 लाख 60 हजार नो पार्किंग, 22 हजार 309 तीन सवारी, 13 हजार 983 संकेत उल्लंघन ,4017 प्रदुषण, 642 शराब सेवन कर वाहन चलाने वालों पर कार्रवाई की गई.
होगी सख्त कार्रवाई एएसपी
यातायात विभाग के एएसपी एमआर मण्डावी ने कहा है कि स्कूल कॉलेज से लेकर नुक्कड़ों में यातायात जागरुकता अभियान चलाया गया. लोगो का जागरूक किया गया है. इसके बाद अब 10 फरवरी से सघन जांच अभियान चला कर यातायात नियमों के उल्लंघन करनें वालों पर कार्रवाई की जाएगी.