September 21, 2021

बधिमा स्थित श्रमिक आश्रय स्थल का कलेक्टर ने लिया जायजा, मिल रही सुविधा की ली जानकारी

Spread the love

बलरामपुर -रामानुजगंज /कोरोना वायरस (कोविड-19) के वैश्विक प्रभाव को देखते हुए मानव के स्वास्थ्य रक्षा हेतु लॉकडाउन की घोषणा की गई है। लॉकडाउन के कारण अतिआवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी सेवाओं पर प्रतिबंध लगाया गया है। इन्हीं कारणों से राज्य से श्रमिक वर्गों का पलायन प्रारम्भ हो गया। जिला बलरामपुर-रामानुजगंज में झारखंड के कई श्रमिक पहुंचे। शासन के निर्देशानुसार जिला प्रशासन ने श्रमिको को सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करायी। कलेक्टर संजीव कुमार झा एवं पुलिस अधीक्षक टी.आर. कोसिमा ने विकासखण्ड राजपुर के बघिमा स्थित श्रमिक आश्रय स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने श्रमिको से बात कर प्रशासन एवं सामाजिक संस्था द्वारा दी जा रही सुविधाओं की जानकारी ली। कलेक्टर

संजीव कुमार झा ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान श्रमिको का पलायन प्रारंभ हो गया, जबकि शासन द्वारा जो जहां है, वहां रहने के लिए निर्देशित किया गया था। बलरामपुर-रामानुजगंज जिला की सीमा झारखण्ड से लगती है, इसलिए बड़ी संख्या में मजदूर राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से झारखंड जाने के लिए बलरामपुर पहुंचे। कलेक्टर ने तत्काल इन मजदूरों के लिए आश्रय स्थल उपलब्ध करवाया और अधिकारियों को आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने श्रमिको से उनको मिल रही सुविधाओं के बारे में पूछा तथा उन्हें विश्वास दिलाया कि पूरा प्रशासन आपके साथ है। कलेक्टर ने उनके आवश्यकताओं के बारे में जानकारी ली तथा किसी भी सहायता के लिए तत्काल अधिकारियों को सूचित करने को कहा।

You may have missed