September 17, 2021

दुर्ग से दरभंगा तक सबको श्रमिकों की चिंता

Spread the love

दुर्ग. लॉक डाउन के दौरान भारत के किसी भी कोने में फंसे श्रमिकों को किसी तरह की परेशानी ना हो, उन्हें राशन मिलता रहे। वह लॉक डाउन में अपना समय सुरक्षित तरीके से और सहजता से गुजार सकें, इसके लिए पूरे देशभर में प्रशासन काम कर रहा है। इसके छोटी सी झलक तब मिली जब आज कमिश्नर दरभंगा में दोपहर कलेक्टर श्री अंकित आनंद को एक मैसेज किया और ग्राम मुरमुंडा धमधा में बिहार के दरभंगा के कुछ श्रमिकों के होने की जानकारी दी। कलेक्टर ने मैसेज मिलते ही एसडीएम सुश्री दिव्या वैष्णव को त्वरित कार्रवाई करने के निर्देश दिए। कुछ समय के भीतर ही एसडीएम और तहसीलदार मौके पर पहुंचे और उन्होंने 9 श्रमिकों के लिए राशन व्यवस्था उपलब्ध कराई। इसकी जानकारी दरभंगा कमिश्नर को भी प्रदान की गई।इस पहल से मजदूर भी बहुत खुश हुए। उन्होंने कहा कि बिहार से हमने अपने जिले के कमिश्नर का संपर्क नंबर लिया और उनसे संपर्क किया हमें नहीं मालूम था कि इतनी जल्दी हमें सहायता मिल जाएगी। एसडीएम ने इस मौके पर कहा कि जिला प्रशासन हर संभव मदद के लिए खड़ा है उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत द्वारा भी मदद की जाएगी। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन के दौरान जहां से भी मजदूरों को राशन मिलने की समस्या की जानकारी मिल रही है। वहां पर राजस्व अमला पहुंच रहा है और राशन उपलब्ध करा रहा है। इसके साथ ही धमधा में अनाज बैंक भी बनाया गया है। इस अनाज बैंक के माध्यम से जहां भी जरूरतमंद श्रमिक है उनकी मदद की जा रही है। इसी तरह धमधा ब्लाक में फंसे 1000 से अधिक मजदूरों के लिए सहायता उपलब्ध कराई जा रही है। उल्लेखनीय है मजदूरों की मदद के लिए एक हेल्पलाइन भी बनाई गई है।

Leave a Reply