September 21, 2021

5 अप्रैल को रात 9 बजे, 9 मिनट देश को दें : मोदी

Spread the love

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम जारी अपने वीडियो संदेश में देशवासियों से, 5 अप्रैल रविवार को रात 9 बजे घरों की सारी लाइट बुझा कर 9 मिनट के लिए मोमबत्ती दिया टॉर्च अथवा मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाने का आग्रह किया है। प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोनावायरस के संक्रमण को चुनौती देने के लिए यह आह्वान किया है। उन्होंने कहा कोरोना को हमें प्रकाश की ताकत का परिचय कराना है। 5 अप्रैल को 130 करोड़ देशवासियों की महाशक्ति का जागरण कराना है। आप अपने घर के दरवाजे या बालकनी में आकर मोमबत्ती दिया टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट से रोशनी अवश्य करें।
प्रधानमंत्री ने कहा चारों तरफ हर व्यक्ति जब एक-एक दिया जलाएगा तो प्रकाश की उस महाशक्ति का एहसास होगा। जिससे लगेगा कि हम एक ही मकसद से एकजुट होकर कोरोना के खिलाफ लड़ रहे हैं।उन्होंने कहा उजाले में संकल्प करें, कि हम अकेले नहीं हैं। मोदी ने कहा समय-समय पर देशवासियों की इस सामूहिक शक्ति की विराटता, भव्यता और दिव्यता की अनुभूति कराना आवश्यक है। उन्होंने कहा देश एक बड़ी लड़ाई लड़ रहा है।इस स्थिति में जनता जनार्दन के विराट स्वरूप की अपार शक्ति का एहसास होना भी जरूरी है। उन्होंने कहा कि 9 मिनट के इस आयोजन में कोई भी व्यक्ति घर से बाहर नहीं निकले।
उल्लेखनीय हैं 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दौरान शाम 5 बजे लोगों ने ताली थाली घंटी आदि बजाकर कोरना वीरों का धन्यवाद दिया था। कई स्थानों से ऐसी तस्वीरें भी आई थी। जिसमें लोगों ने इसे जश्न की तरह मनाया था।
प्रधानमंत्री ने अपने संदेश में करोड़ों लोगों को अपने घरों में रहते हुए यह एहसास होना चाहिए, कि वह अकेले नहीं है। कुछ लोगों को लग रहा है कि हमें कितने दिन इस तरीके से काटने पड़ेंगे। उन्होंने कहा लाक डाउन का समय है। अपने अपने घरों में हम जरूर हैं।लेकिन हम में से कोई भी अकेला नहीं है। 130 करोड़ देशवासियों की सामूहिक शक्ति हर व्यक्ति के साथ है। यही हर व्यक्ति का संबल होना चाहिए। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कोरोना महामारी से फैले अंधकार के बीच हमें निरंतर प्रकाश की ओर आगे बढ़ना है। महामारी में इस समय सबसे ज्यादा प्रभावित हमारे गरीब भाई बहन हैं। उन्हें निराशा से आशा की ओर ले जाना है। इस अंधकार में कोरोना संकट को पराजित कर प्रकाश के तेज को चारों दिशाओं में फैलाना है।

Leave a Reply

You may have missed