January 17, 2022

विभाग के अन्य कर्मचारी भी बनेंगे आरोपी

Spread the love

धोखाधड़ी की आरोपी महिला से पूछताछ
बिलासपुर। उपभोक्ताओं से बिजली बिल की रकम लेकर करीब एक करोड़ नौ लाख 70 हजार रुपये की धोखाधड़ी करने की आरोपित महिला क्लर्क को पकड़कर पुलिस थाने ले आई। पूछताछ के दौरान उसकी तबीयत बिगड़ गई।
इस पर उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इधर, पूछताछ में महिला ने अपने पति की पोल खोल दी है। आरोपित कापति ही उपभोक्ताओं से रकम कम कराने का सौदा करता था। पुलिस अब उसे भी आरोपित बनाने की तैयारी में है।
सिविल लाइन टीआइ परिवेश तिवारी ने बताया कि धोखाधड़ी करने की आरोपित महिला क्लर्क प्राप्ति राय भगत को पुलिस रविवार को पकड़कर थाने ले आई। इस दौरान उससे पूछताछ की। तब पता चला कि विभाग से हेराफेरी करने के मामले में वह अकेली आरोपित नहीं है।
बल्कि, उसके साथ विभाग के अन्य अधिकारी कर्मचारी भी शामिल हैं। पूछताछ में महिला ने कई अहम जानकारी पुलिस को दी है। इसके आधार पर पुलिस बिजली विभाग के अन्य अधिकारी-कर्मचारियों को भी आरोपित बनाने की तैयारी में है।
आरोपित महिला की पुलिस की पूछताछ के दौरान हिरासत में अचानक तबीयत बिगड़ गई। इस पर उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। टीआइ तिवारी ने बताया कि महिला के बयान के आधार पर पुलिस तकनीकी सबूत जुटा रही है।
इसके आधार पर उसके पति को भी आरोपित बनाने की तैयारी में है। इस मामले में शनिवार को पुलिस ने विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारी की शिकायत पर धारा 420 के तहत अपराध दर्ज किया है। विभागीय जांच में उसके द्वारा एक करोड़ नौ लाख 70 हजार रुपये की धोखाधड़ी का खुलासा हुआ है।

You may have missed