July 30, 2021

बाबा जी के संदेश आज भी प्रासंगिक- डॉ.डहरिया

Spread the love

नगरीय प्रशासन एवं श्रम मंत्री लालपुर में आयोजित गुरू घासीदास जयंती समारोह में हुए शामिल
मुंगेली।
नगरीय प्रशासन एवं श्रम मंत्री डॉ शिवकुमार डहरिया जिले के विकासखण्ड लोरमी के ग्राम लालपुर में आयोजित बाबा गुरू घासीदास जी की जयंती समारोह में शामिल हुए। उन्होने गुरू गद्दी एवं जैतखाम में पूजा-अर्चना की। नगरीय प्रशासन मंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि बाबा गुरूघासी दास जी का जब जन्म हुआ उस समय समाज में कुरीतियां, अंधविश्वास, अस्पृश्यता व्याप्त थी। गुरू घासीदास जी ने सत्य अहिंसा, मनखे-मनखे एक समान, अंधविश्वास, आडम्बर से दूर रहने, नशा पान नहीं करने का उपदेश दिया। ऊंच-नीच के भेद भाव मिटाने के लिए बाबा गुरूघासीदास जी ने सामाजिक समरसता का संदेश दिया। उनका संदेश आज भी प्रासंगिक है। दया करूणा, सत्य मार्ग पर चलनेए नारी सम्मान एवं पशुओं से प्रेम करने कहा।
डॉ डहरिया ने कहा कि पंथी नृत्य के माध्यम से गुरू घासीदास जी के संदेशों को दूर-दूर तक पहुंचाने का कार्य किया गया है। हमारे पूर्वजों ने समृद्ध छत्तीसगढ़ राज्य बनाने का सपना देखा था जिसे पूरा करने का काम हमारी सरकार कर रही है। छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री श्री बघेल की सरकार बनते ही किसानों की ऋण माफी, 2500 रूपए समर्थन मूल्य पर धान खरीदी, 400 यूनिट तक हाफ बिजली सहित अनेकों उपलब्धियां हासिल की है। उन्होने गुरू घासीदास जयंती समारोह का सफलतापूर्वक आयोजन के लिए समाज के व्यक्तियों को बधाई दी। नगरीय प्रशासन मंत्री ने कार्यक्रम के दौरान गुरूघासीदास कलेण्डर का विमोचन भी किया। लोरमी विधानसभा क्षेत्र के विधायक धर्मजीत सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि बाबा गुरूघासीदास जी हमेशा सच्चाई का साथ दिये है। उन्होने मनखे-मनखे एक समान का संदेश दिया। शिक्षा का अलख जगाया। उन्होने सच्चाई, सादगी, करूणा, दया, ममता और क्षमा का रास्ता दिखाया है। हम सबको बाबा जी के बताये रास्ते पर चलकर गरीब, शोषित, पीडि़त व्यक्ति का सहयोग करना चाहिए। उन्होने आयोजन समिति को अपनी बधाई एवं शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम का संचालन रामकुमार पात्रे ने किया।
०००००००००००००००००००००