July 30, 2021

दिल्ली में लो विजिबिलटी: 32 उड़ानें डायवर्ट, सीजन में पहली बार एक्यूआई 600 से ऊपर

Spread the love

एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) को 500 से ऊपर पर ‘बेहद गंभीर आपातकालीन’ स्थिति माना जाता है
दिल्ली के बवाना में एक्यूआई 492, आईटीओ में 487 और अशोक विहार में 482 के स्तर पर पहुंचा
नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली और एनसीआर के इलाकों में इस सीजन में पहली बार एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 600 के पार पहुंचा है। दिल्ली में रविवार को छिटपुट बारिश के बावजूद हवा की गुणवत्ता और खराब हुई है। ज्यादातर इलाकों में विजिबिलिटी (दृश्यता) काफी कम रही। दिल्ली एयरपोर्ट ने बयान जारी कर कहा कि खराब मौसम और लो विजिबिलिटी के कारण विमान सेवाओं पर असर पड़ा है। सुबह 9 बजे से लेकर अब तक टर्मिनल-3 से 32 फ्लाइट्स को जयपुर, अमृतसर और लखनऊ डायवर्ट किया जा चुका है।
मौसम विभाग के मुताबिक, ‘‘अगले 24 घंटे बादल छाए रहेंगे। कहीं-कहीं हल्की बारिश भी हो सकती है। 15 से 20 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना है।’’ विशेषज्ञों ने घर से बाहर निकलने पर वायु प्रदूषण से बचने के लिए मास्क पहनने की सलाह दी है। दिल्ली यूनिवर्सिटी के इलाके में दोपहर तक एक्यूआई 592 पर था, वहीं लोधी रोड में 537, आईटीओ में 487 और अशोक विहार में 482 रिकॉर्ड किया गया। यह गंभीर स्थिति मानी जाती है।
एयर क्वालिटी इंडेक्स के मानक
एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) को 0-50 के बीच ‘बेहतर’, 51-100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 से 200 के बीच ‘सामान्य’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 से 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ माना जाता है। वहीं, हवा में पीएम 10 का स्तर 100 और पीएम 2.5 60 माइक्रोग्राम प्रतिघन मीटर से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।
दिल्ली में हेल्थ इमरजेंसी
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को पड़ोसी राज्यों में पराली जलाए जाने से बढ़े प्रदूषण को देखते हुए दिल्ली के सभी स्कूल 5 नवंबर तक बंद रखने के आदेश दिए। वहीं, सुप्रीम कोर्ट के पैनल ने प्रदूषण का स्तर अति गंभीर होने पर दिल्ली-एनसीआर में पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी घोषित की। साथ ही 5 नवंबर तक सभी तरह के निर्माण कार्यों पर प्रतिबंध लगाया गया। सर्दी के मौसम में पटाखे जलाने पर पूरी तरह रोक रहेगी।
4 से 15 नवंबर तक ऑड-ईवन योजना लागू होगा
वायु प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए दिल्ली में अरविंद केजरीवाल की नेतृत्व वाली सरकार ने 4 से 15 नवंबर तक ऑड-ईवन योजना लागू करने की घोषणा की है। बढ़ते प्रदूषण के मद्देनजर, दिल्लीवासियों ने सांस लेने में समस्या और एलर्जी की शिकायत की है। हाल ही में केजरीवाल ने निजी और सरकारी स्कूल में 50 लाख से ज्यादा मास्क बांटे हैं।