October 19, 2021

हल्की बारिश में ही फस गई स्कूल गाड़ी, बाइक व पैदल चलना भी हो जाता है मुहाल, ये है पसौद-बोरी मार्ग का हाल

Spread the love

बालोद। जिला मुख्यालय से 18 किलोमीटर दूरी पर स्थित बोरी-पसौद मार्ग है। हालांकि उक्त मार्ग किसी भी विभाग के अधीन नहीं है। उक्त मार्ग का मरम्मत केवल मनरेगा के तहत ही हो सकता है। आज तक उक्त मार्ग का कभी भी ना तो कांक्रीटीकरणकरण हुआ ना ही डामरीकरण और ना ही सीमेंटीकरण। बहरहाल कभी.कभी मनरेगा व पंचायत के माध्यम से इस मार्ग पर बोरी व पसौद पंचायत के माध्यम से मिट्टीए मुरम बिछाई जाती है। कच्ची मार्ग होने के कारण यह मार्ग हल्की बारिश में ही दल दल के रूप में तब्दील हो जाता है। नतीजा यह है कि हल्की सी बारिश के बाद भी इस मार्ग पर फोर व्हीलर चलना तो दूर बाइक व पैदल चलना भी मुहाल हो जाता है। लिहाजा उक्त मार्ग पर आने जाने वाले लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।
स्कूल वैन फंसा तो ट्रेक्टर से खिंचवाया
पसौद के पूर्व सरपंच पोषण लाल साहूए ग्रामीण राजेश गांधी, सोमन साहू ने बताया कि रविवार व सोमवार की रात हुई बारिश के कारण जब सोमवार को एक स्कूल वैन बालोद मुख्यालय के लिए निकले तो इस रास्ते पर फंस गया। वैन में दर्जनों बच्चे भी बैठे थे। जिन्हें गाड़ी फंसने के बाद उतारकर ट्रैक्टर के माध्यम से खिंचवा कर निकालना पड़ा। इस मार्ग के मरम्मत व डामरीकरण के लिए ग्रामीणों ने कई बार संबंधित विभाग व नेताओं को मांग पत्र सौंप चुके हैं। लेकिन इसे पक्की सड़क के लिए अभी तक किसी के द्वारा कोई पहल नहीं की गई है। जिसका खामियाजा हल्दी, पसौद, बोरी सहित आसपास के कई राहगीरों को भुगतना पड़ रहा है। क्योंकि हल्दी, पसौद के लोगों के लिए यह मार्ग सीधा व सरल है। इस मार्ग पर आवागमन बंद होने के बाद पसौद के लोगों को वापस ढाबाडीह मोड़ए भेंगारी मोड़ होते हुए बोरी से होकर लाटाबोड़ जाना पड़ता है। जिससे अधिक दूरी व समय का भी भार सैकड़ों ग्रामीणों को सहना पड़ता है।
उच्चाधिकारियों व नेताओं को कई बार कर चुके हैं शिकायत
बोरी के सरपंच ज्ञानचंद सोरी, पसौद के पूर्व पंच द्वारिका पटेल ने बताया कि इस मार्ग के हालत के बारे में उच्चाधिकारियों व नेताओं को कई बार शिकायत कर चुके हैं। लेकिन आज तक किसी ने इस मार्ग की सुध नहीं ली।
ग्रामीणों ने उक्त मार्ग के संबंध में ज्ञापन व शिकायत पत्र सौंपा था। हमने विभागीय जानकारी लेने के लिए चि_ी लिखे हैं। दिवाली के बाद इस रोड का सर्वे कराया जाएगा। इस मार्ग को पीएमजीएसवाई के दायरे में लाने का प्रयास किया जाएगा।
कुंवर सिंह निषाद, विधायक गुंडरदेही