October 19, 2021

ओपन शतरंज स्पर्धा चतुर्थ चक्र में धनंजय आशुतोष एवं बनर्जी अजय राय ने -अपने मैच जीते

Spread the love

दुर्ग। छत्तीसगढ़ मंच के बैनर तले स्वर्गीय श्री लालजी भाई आडतिया की स्मृति में श्री जलाराम सांस्कृतिक भवन सिविल लाइन में 14 से 20 अक्टूबर तक प्रतिदिन शाम 6 बजे से खेले जाने वाले श्री जलाराम ट्रॉफ ी जिला स्तरीय ओपन शतरंज स्पर्धा मे चतुर्थ चक्र का मैच काफ ी रोमांचक रहा। मंच के अध्यक्ष ईश्वर सिंह राजपूत ने बताया कि चतुर्थ चक्र का उद्घाटन संरक्षक तुलसी सोनी, चन्द्रिका दत्त चंद्राकर, किशोर जैन सराफ ा रविंद्र जैन द्वारा शतरंज की चाल चलकर चौथे चक्र का शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर दिनेश जैन एव दिव्यांशु उपाध्याय उपस्थित थे। मंच के अध्यक्ष ईश्वर सिंह राजपूत ने चतुर्थ चक्र की जानकारी देते हुए बताया कि आज के खेल में अनुभवी खिलाडिय़ों एवं नये खिलाडीयो के बीच का घमासान देखने योग्य था। इस प्रतियोगिता में अभी तक पहले टेबल पर खेलते हुए एस धनंजय अपराजित चल रहे हैं, उन्होंने आज चौथे राउंड में विश्वजीत सिंह को सफेद मोहरों से खेलते हुए 25 चालों में ही अपनी जीत सुनिश्चित कर ली। उन्होंने 4 पॉन के साथ अपने खेल की शुरुआत की जिसका जवाब विश्वजीत सिंह ने जी 6 के साथ दिया लेकिन ज्यादा देर तक वे एस धनंजय के सामने टिक नहीं पाए और हार का मुंह देखना पड़ा। इसी प्रकार टेबल क्रमांक 2 पर आशुतोष बनर्जी ने अपना दबदबा बनाए रखा है, उन्होंने उभरते हुए खिलाड़ी वंश अग्रवाल को काफ ी मशक्कत के बाद परास्त कर दूसरा टेबल सुरक्षित रखा हुआ है। आशुतोष बनर्जी ने इ 4 से अपने खेल की शुरुआत की और 31 वे चाल तक मुकाबला खेला गया । अंतत: आशुतोष ने अपने अनुभव का उपयोग करते हुए जीत हासिल की और अपना चौथा अंक अर्जित किया।
तीसरे टेबल पर भी काफ ी कड़ा मुकाबला देखने को मिला यह मुकाबला 1871 रेटिंग प्राप्त दुर्ग के अजय कुमार राय तथा यशस्व अनिल कनहोलकर के बीच खेला गया जिसमें यशस्व ने काफ ी कोशिश की कि वे इस मुकाबले को जीत में तब्दील कर सके, लेकिन ऐसा नहीं हो सका 37 वे चाल तक यह मुकाबला चलता रहा, किंतु यशस्व जीत हासिल करने में असफल रहे। शतरंज के जानकारों ने यशस्व के खेल की काफ ी प्रशंसा की और उन्हें और भी मेहनत करने की सलाह दी। टेबल क्रमांक 4 पर काफ ी संघर्षपूर्ण मुकाबला खेला गया इस मुकाबले में पूर्व विजेता राहुल शर्मा एवं अनुभवी वीरेंद्र जैन के बीच बाजी खेला गया। विरेंद्र जैन इस प्रतियोगिता के सबसे वरिष्ठ खिलाडिय़ों में पहले पायदान पर है वह 72 वर्ष की उम्र में भी अच्छे- अच्छे खिलाडिय़ों को कड़ी चुनौती दे रहे हैं, राहुल शर्मा एव वीरेंद्र जैन के बीच मुकाबला बराबरी पर रहा। दोनों ही खिलाड़ी साढे तीन- साढे तीन अंक लेकर प्रतियोगिता में टॉप टेन में बने हुए हैं। दो अनुभवी खिलाडिय़ों भक्ति पथ बोस तथा सुभाष बख्शी के बीच काफ ी संघर्षपूर्ण मुकाबला खेला गया जिसमें सुभाष बक्शी ने विजय हासिल की है। चतुर्थ चक्र के अन्य विजेता खिलाडियो के नाम सत्येंद्र ठाकुर, शिव शंकर शर्मा, आदित्य मेश्राम, आर्यन नायर, बलराम मारकंडे, धनंजय सिंह, हंस राय आदि। प्रतियोगिता के मुख्य आर्बिटर गिरधर लाल देशमुख, डिप्टी आर्बिटर गोविंद देशमुख,आर्बिटर मिथिलेश बंजार, दिव्यांशु उपाध्याय की निगरानी मे अनुशासित रूप से यह प्रतियोगिता चल रही है।