August 1, 2021

नए साल में रणजीत हनुमान मंदिर की खास पहल, युवाओं को दिलाई जाएगी ये शपथ

Spread the love

इंदौर. नए साल की अगवानी में आज खजराना गणेश, रणजीत हनुमान मंदिर (Ranjit Hanuman Temple) और अन्नपूर्णा मंदिर में बड़ी संख्या में भक्त दर्शन करने पहुंच रहे हैं. जबकि खजराना गणेश मंदिर (Khajrana Ganesh Temple) में नशा मुक्ति और बुरे व्यसनों से दूर रहने का संकल्प पुजारी अशोक भट्ट दिलवा रहे हैं, तो रणजीत हनुमान मंदिर में युवाओं को माता-पिता और बुजुर्गों की देखरेख के साथ उनका सम्मान करने का संकल्प पुजारी दीपेश व्यास दिलवा रहे हैं.

125 साल पुराना है रणजीत हनुमान मंदिर

इंदौर शहर के पश्चिम क्षेत्र का रणजीत हनुमान मंदिर सवा सौ साल पुराना है. बताया जाता है कि शुरुआती समय में रणजीत हनुमान की प्रतिमा खुले में स्थापित थी,जिसे बाद में शेड और छत डालकर मंदिर बनाया गया. प्राचीन रणजीत हनुमान मंदिर में ढाई सौ किलो चांदी से सवा करोड़ की लागत से गर्भगृह बनाया गया है. यहां महाकाल और खजराना गणेश मंदिर की तर्ज पर दानदाताओं से एकत्रित चांदी से गर्भगृह का निर्माण किया गया. जबकि चांदी से बने गर्भगृह की दीवारों पर बालकांड से उत्तरकांड तक भगवान राम के चरित्र महत्वपूर्ण प्रसंगों का चित्रण किया गया है.

भगवान राम के लिए 41 किलो चांदी का सिंहासन

रणजीत हनुमान मंदिर परिसर में स्थित राम मंदिर में भगवान राम के लिए 41 किलो चांदी से सिंहासन बनाया गया है. चार एकड़ में फैले मंदिर परिसर में प्रवेश के लिए मुख्य द्वार और दो अन्य द्वार राजस्थानी शैली में बनाए गए हैं. मंदिर में प्रवेश करते ही आपको यहां कई भक्त हनुमान चालीसा, बजरंग बाण और सुंदरकांड का पाठ करते हुए नजर आएंगे. यकीनन यहां प्रवेश करने के साथ ही राम भक्त हनुमान के प्रति लगन बढ़ जाती है. जबकि यहां देश विदेश से भक्त अपनी मन्नतें लेकर पहुंचते हैं. रणजीत हनुमान के बारे में ये भी कहां जाता है कि जो भी अपने रण यानी अपने-अपने कार्य क्षेत्र में विजय हासिल करना चाहता है वो रणजीत हनुमान के दरबार में आता है. नए साल में भी यहां देश विदेश से लाखों की संख्या में भक्त दर्शन करने पहुंचेंगे.

Leave a Reply