January 24, 2022

नागरिकता पर अब आर-पार: दिल्ली समेत कई राज्यों में हालात खराब, जवानों की छुट्टियां रद्द

Spread the love

नई दिल्ली। नागरिकता कानून पर अब सरकार और प्रदर्शनकारियों के बीच आर-पार की जंग छिड़ गई है। दिल्ली समेत कई राज्यों में आज का दिन हिंसक तस्वीर दिखा सकता है। खुफिया अलर्ट में कहा जा रहा है कि दोपहर बाद हालात बिगड़ सकते हैं। मंडल आयोग के विरोध प्रदर्शन के बाद दिल्ली में यह सबसे बड़ा प्रदर्शन का दिन हो सकता है। इसमें एक साथ दिल्ली के विभिन्न इलाकों में 40 से अधिक मोर्चे खुल सकते हैं। प्रोटेस्ट के दौरान तोडफ़ोड़, आगजनी और दंगा भड़काने के लिए इंडियन मुजाहिदीन और सिमी से जुड़े कट्टरपंथी मॉड्यूल तैयारी के साथ प्रोटेस्ट में शामिल हो चुके हैं। ये इनपुट्स खुफिया एजेंसियों ने दिल्ली पुलिस के साथ साझा किए हैं। प्रोटेस्ट से निपटने के लिए दिल्ली पुलिस ने दिल्ली से यूपी और हरियाणा के तमाम जिलों के कप्तान और कमिश्नर से बात कर दिल्ली में शांति बनाए रखने में मदद मांगी है।
सोशल मीडिया से जमीन तक की तैयारी
खासतौर से वॉट्सएप, ट्विटर और फेसबुक पर वायरल होने वाली अफवाहों को रोकने के लिए दिल्ली पुलिस ने पुख्ता इंतजाम किए हैं। पुलिस के साइबर सेल ने उन तमाम सोशल मीडिया अकाउंट्स को निगरानी पर रखा है, जो अफवाहें फैलाने में लगे हैं। पुलिस ने अपने तमाम जवानों और अफसरों की छुट्टियां रद्द कर दी हैं। साथ ही होम मिनिस्ट्री से भी अतिरिक्त फोर्स की मांग की गई है। इसके तहत रणनीति बनाई जा रही है कि गुरुवार रात से ही दिल्ली में बैरिकेडिंग कर दी जाए।
इंडियन मुजाहिदीन और सिमी भी शामिल
पुलिस को खुफिया सूचना मिली है कि प्रोटेस्ट के दौरान तोडफ़ोड़, आगजनी व दंगा भड़काने के लिए इंडियन मुजाहिदीन और सिमी से जुड़े कट्टरपंथी मॉड्यूल तैयारी के साथ प्रोटेस्ट में शामिल हो चुके हैं। ये इनपुट्स खुफिया एजेंसियों ने दिल्ली पुलिस के साथ साझा किए हैं। इस बात की तस्दीक दिल्ली पुलिस के अफसर ने की। उन्होंने बताया कि इनपुट्स यह भी मिला था कि गुरुवार को होने जा रहे प्रोटेस्ट में बड़ी संख्या में मेवात, नूंह व उसके आसपास एरिया में करीब 25 हजार लोग गाडिय़ों के जरिए दिल्ली में दाखिल होकर प्रदर्शन में हिंसा फैला सकते हैं। इसी के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने रात को ही गुडग़ांव बॉर्डर पर बैरिकेड्स लगाकर पुख्ता इंतजाम कर दिए थे।
कई शहरों में इंटरनेट बंद
दिल्ली से सटे गाजियाबाद और उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के कुछ इलाकों में ऐहतियातन 24 घंटे के लिए इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। मेरठ, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, शामली, अलीगढ़ जिलों में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। माहौल सुधरने के बाद ही इन इलाकों में इंटरनेट सेवाएं सामान्य हो सकेंगी।