October 20, 2021

बेरोजगारी के मामले में दिल्ली पहले नंबर पर: कीर्ति आजाद

Spread the love

नई दिल्ली । दिल्ली प्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष कीर्ति आजाद ने केंद्र और दिल्ली सरकार की नीतियों पर सवाल उठाते हुए कहा कि गलत नीतियों के चलते सीएमआईई के आंकड़ों में दिल्ली बेरोजगारी के मामले में देश में नंबर एक हो गया। दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस बेरोजगारी को बड़ा मुद्दा बनाएगी। कांग्रेस नेता कीर्ति आजाद ने बयान जारी कर कहा कि सितंबर महीने में देश में बेरोजगारी दर जहां 7.2 प्रतिशत थी, वहीं दिल्ली में यह 20.4 प्रतिशत थी। यह राष्ट्रीय औसत से लगभग तीन गुना अधिक है। आम आदमी पार्टी ने अपने घोषणापत्र के 45वें बिंदु पर पांच साल में आठ लाख नए रोजगार देने का वादा किया था। हकीकत यह है कि केजरीवाल सरकार ने विधानसभा में एक सवाल के जवाब में बताया कि दिल्ली सरकार ने तीन वर्षों के शासन काल में केवल 324 युवाओं को रोजगार कार्यालय से रोजगार दिया। जबकि दिल्ली सरकार के अलग अलग विभागों में 45 हजार से ज्यादा पद खाली पड़े है। कीर्ति आजाद ने मोदी सरकार और केजरीवाल सरकार के नीतियों के बारे में बताते हुए कहा कि नए रोजगार पैदा करना तो दूर लाखों रोजगार छीने गए। नोटबंदी और जीएसटी जैसी नीतियों ने उद्योग धंधों को चौपट कर दिया। दिल्ली और एनसीआर में जितने भी उद्योग धंधे थे, सभी पर बुरा प्रभाव पड़ा।