लौकी का सेवन मधुमेह में है नुकसानदायक

लौकी का सेवन मधुमेह में है नुकसानदायक
Ro No. 12141/19

Ro No. 12141/19

Ro No. 12141/19

ये प्राकृतिक भोज्य पदार्थ शरीर को निरोगी बनाए रखने में सहायक होते हैं, साथ ही रोगों को भी ठीक करने में पूरी तरह से सक्षम है। इन प्राकृतिक खाद्य पदार्थों में औषधीय गुण होते हैं जो कई रोगों से बचाव करने के साथ ही बीमारियों से छुटकारा भी दिलाते हैं।औषधीय गुणों से भरपूर खाद्य पदार्थों में लौकी का नाम भी शामिल है।

दस्त-उल्टी - वैसे तो लौकी का जूस स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकता है। लेकिन जब आप ज्यादा लौकी का जूस पीते हैं तो उल्टी और दस्त की शिकायत हो सकती है। इसके अलावा जूस बनाते समय साफ सफाई का ध्यान रखें, वरना बैक्टीरियल इंफेक्शन होने की संभावना हो सकती है।

हाई ब्लड प्रेशर- अगर आप ब्लड प्रेशर के मरीज हैं तो लौकी का जूस कम मात्रा में पिएं। लौकी के जूस का सेवन ब्लड प्रेशर को असामान्य रूप से घटा सकता है। अचानक ब्लड प्रेशर में गिरावट होने से चक्कर आने, बेहोशी, आंखों में धुंधलापन होने की समस्या हो सकती है।

मधुमेह- मधुमेह रोगियों को लौकी का सेवन अधिक नहीं करना चाहिए। लौकी का जूस शुगर के स्तर को अचानक कम कर सकता है। इससे बेहोशी और कुछ मामलों में हाइपोग्लाइसीमिया होने का खतरा भी होता है।

कैंसर- लौकी में पाएं जाने वाला विटामिन ई और एंटीऑक्सीडेंट अधिक फायदेमंद हैं। अधिक मात्रा में इसका सेवन कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के खतरे को बढ़ा सकता है।