रिजर्व सैनिकों की तैनाती पर भड़के रूसी, बोले- 'आप तोप के चारे की तरह हैं'

रिजर्व सैनिकों की तैनाती पर भड़के रूसी, बोले- 'आप तोप के चारे की तरह हैं'
Ro No. 12141/19

Ro No. 12141/19

Ro No. 12141/19

मॉस्को । यूक्रेन पर रूस के हमले के सात महीने गुजर जाने के बाद भी युद्ध अनिर्णायक बना है और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के तेवर और तल्ख होते जा रहे हैं। उन्होंने यूक्रेन में 3 लाख रिजर्व सैनिकों की तैनाती की घोषणा की है। इसके बाद से ही रूस में जमकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। राजधानी मॉस्को, सबसे बड़े औद्योगिक शहर सेंट पीटर्सबर्ग में बड़ी संख्या में लोगों ने सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन किया। एक स्वतंत्र निगरानी समूह ने दावा किया कि इन दोनों शहरों में रिजर्व सैनिकों की तैनाती के विरोधी रैलियों में शामिल सैकड़ों लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मॉस्को में प्रदर्शनकारियों ने 'नो टू वॉर, लाइफ टू अवर चिल्ड्रन, नो मोबिलाइजेशन' के नारे भी लगाए। पुतिन की इस सैन्य तैनाती के आदेश के बाद आशंका जताई जा रही है कि यूक्रेन युद्ध और ज्यादा भड़क सकता है।
इस प्रदर्शन में शामिल वासिली फेडोरोव नाम के छात्र ने कहा कि हर कोई डरा हुआ है। मैं शांति चाहता हूं, यह नहीं चाहता कि रायफल पकड़कर लोगों को गोली मारूं। लेकिन, अब बाहर आना बहुल खतरनाक है, नहीं तो और भी बहुत से लोग मारे जाएंगे। एक छात्रा ओक्साना सिदोरेंको ने कहा कि मैं यह कहने आई थी कि मैं युद्ध और सैनिकों के मोबिलाइजेशन के खिलाफ हूं। वे मेरे लिए मेरा भविष्य क्यों तय कर रहे हैं? मैं अपने लिए, अपने भाई के लिए डरी हुई हूं।
रूसी सेना और युद्ध की आलोचना के खिलाफ कठोर कानूनों के बावजूद, पूरे देश में विरोध प्रदर्शन हुए। स्वतंत्र रूसी मानवाधिकार समूह के अनुसार, 38 शहरों में युद्ध-विरोधी प्रदर्शनों में 1,300 से अधिक रूसियों को गिरफ्तार किया गया था। रूसी समाचार एजेंसी ने गृह मंत्रालय के हवाले से कहा कि पुलिस ने बिना अनुमति के विरोध प्रदर्शन करने और रैलियां निकालने के प्रयास को विफल कर दिया है। सभी प्रदर्शनों को रोक दिया गया है और उल्लंघन करने वालों को गिरफ्तार किया गया है।
इससे पहले युद्ध विरोधी आंदोलन वेस्ना यूथ डेमोक्रेटिक मूवमेंट ने प्रदर्शनों का आह्वान किया था। वेस्ना ने रूस-यूक्रेन युद्ध का जिक्र करते हुए एक अपील में कहा, "हम सैनिकों से रूसी सेना के विशेष अभियान में भाग लेने से इनकार करने और जल्द से जल्द आत्मसमर्पण करने का आह्वान करते हैं। आपको पुतिन के लिए मरने की जरूरत नहीं है। रूस में आपकी जरूरत उन लोगों को है जो आपसे प्यार करते हैं। अधिकारियों के लिए आप तोप के चारे की तरह हैं, जहां बिना किसी अर्थ या उद्देश्य के आपको बर्बाद कर दिया जाएगा।