धान के बदले अन्य फसल लेकर की थी कमाई, कलेक्टर ने किसान की पीठ थपथपाई

धान के बदले अन्य फसल लेकर की थी कमाई, कलेक्टर ने किसान की पीठ थपथपाई
Ro No. 12172/19

Ro No. 12172/19

Ro No. 12172/19

Ro No. 12172/19

Ro No. 12172/19

Ro No. 12172/19

जांजगीर-चाम्पा, कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने आज पामगढ़ ब्लॉक के चेऊडीह, बारगांव और कोड़ाभाट में जब किसानों के खेतों में जाकर इनके मेहनत को देखा तो उन्होंने न सिर्फ उनकी पीठ थपथपाई, उन्हें बधाई देते हुए क्षेत्र के अन्य किसानों को भी सीख लेने की जरूरत बताई। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल किसानों को धान के बदले अन्य फसल लेने न सिर्फ प्रेरित कर रहे हैं,अपितु ऐसे किसानों को प्रोत्साहन राशि भी दे रहे हैं। आर्थिक रूप से संबल बनने के लिए धान के बदले अन्य फसल लाभदायक साबित होता है। उन्होंने उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों को ऐसे किसानों को और प्रोत्साहित करते हुए शासन की योजनाओं का लाभ दिलाने कहा।
    कलेक्टर ने पामगढ़ ब्लॉक के ग्राम चेउडीह में किसान भरतलाल दिनकर द्वारा 2 एकड़ में लगाए केलाबाड़ी को देखकर उनकी तारीफ की। ग्राम बारगांव में किसान कुँवर सिंह मधुकर द्वारा 10 एकड़ क्षेत्र में धान के बदले लगाए गए मूंगा, मिर्ची, गोभी, टमाटर, बेर,धनिया, बरबट्टी सहित अन्य सब्जियों को देखकर खूब शाबाशी दी। युवा किसान कुँवर सिंह ने कलेक्टर को बताया कि वह धान के बदले अन्य फसल लेकर अभी तक 8 लाख रुपये से अधिक की कमाई कर चुका है। कलेक्टर ने किसान की मेहनत को देखकर न सिर्फ उनकी पीठ थपथपाई, अपितु गाँव के अन्य किसानों को भी इस दिशा में प्रेरित करने कहा। कलेक्टर ने किसान को स्थाई रूप से सिंचाई की व्यवस्था के लिए डबरी निर्माण का भी सुझाव दिया। ग्राम कोड़ाभाट में किसान फूलदेवी चंदेल के बाड़ी में लगे पपीते का अवलोकन किया। उन्होंने किसान को धान के बदले अन्य फसल से होने वाले फायदों के विषय में विस्तार से बताया। कलेक्टर ने कहा कि अन्य फसल से राज्य सरकार द्वारा प्रोत्साहन राशि तो मिलेगी ही, इसके साथ ही सब्जी या फलों को बेचकर दुगना मुनाफा कमाया जा सकता है। ग्राम कोड़ाभाट में माटीकला बोर्ड की सदस्य पुनिता प्रजापति सहित एसडीएम  आर के तम्बोली सहित जनपद सीईओ सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।