जैव विविधता प्रबंधन समिति चीचा को उत्कृष्ट कार्य के लिए किया गया सम्मानित

जैव विविधता प्रबंधन समिति चीचा को उत्कृष्ट कार्य के लिए किया गया सम्मानित
Ro No. 12141/19

Ro No. 12141/19

Ro No. 12141/19

 दुर्ग. अंतर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस के अवसर पर पाटन के चीचा (बीएमसी) जैव विविधता प्रबंधन समिति को पक्षियों के संरक्षण की दिशा में उत्कृत कार्य के लिए सम्मानित किया गया।
    छत्तीसगढ़ राज्य जैव विविधता बोर्ड द्वारा जैव विविधता दिवस पर प्रदेश में जैव विविधता के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य कर रहे व्यक्ति और संस्था को सम्मानित किया  जाता है। इसी कड़ी में दुर्ग वन विभाग के कार्यालय में हुए वर्चुअल कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के द्वारा चीचा बीएमसी को प्रशस्ति पत्र और सम्मान राशि का चेक देकर उनका सम्मान किया गया।विदित हो कि चीचा जलाशय में प्रति वर्ष प्रवासी पक्षी आते हैं और अपनी शर्दियां यहां बिताते हैं ,इन्ही प्रवासी पक्षियों के संरक्षण और उन्हें शिकारियों से बचाने  के साथ पक्षियों के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए चीचा की जैव विविधता प्रबंधन समिति को सम्मानित किया गया।
 इसी के साथ दुर्ग वन मंडल क्षेत्र में पीपल फॉर एनीमल संस्था को पालतू पशुओं की श्रेणी में तथा नवागढ़ के किशोर राजपूत को व्यक्तिगत श्रेणी में देशी किस्म के बीजों के संरक्षण के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ कार्य के लिए सम्मानित किया गया।
      इस अवसर पर वन विभाग के सीसीएफ श्री बीपी सिंह, डीएफओ श्री शशि कुमार ,एसडीओ मोना महेश्वरी ,पक्षी विशेषज्ञ श्री राजू वर्मा, चीचा बीएमसी अध्यक्ष श्री पंकज चंद्राकर, श्री संतोष हुलेश्वर पटेल, श्री किशोर चंद्रकार, इंद्राणी साहू, त्रिवेणी मनहर गोविंद कश्यप, पीपल फॉर एनीमल के आंचल दानी, बिदिशा बिस्वास, धारिनी जोशी, कीर्ति राव, अंकित विष्णु वर्धन, जयती गुप्ता, स्नेहा साहू सहित वन विभाग के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।