ईरान में हिजाब के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व कर रही महिलाएं

ईरान में हिजाब के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व कर रही महिलाएं
Ro No. 12141/19

Ro No. 12141/19

Ro No. 12141/19

तेहरान । ईरान में हिजाब कानून तोड़ने के आरोप में हिरासत में ली गई महिला की मौत के बाद भड़के विरोध प्रदर्शनों को महिलाएं नेतृत्व कर रही हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सारी महिलाओं ने अलाव जलाकर अपने हिजाब को जला दिया और अपनी खुशी का इजहार किया। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि उर्मिया, पिरानशहर और करमानशाह में सुरक्षा बलों द्वारा मारे गए तीन प्रदर्शनकारियों में महिला भी शामिल है। रिपोर्ट में कहा गया है कि अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों पर करमानशाह में दो नागरिकों और शिराज में एक पुलिस सहायक की हत्या करने का आरोप लगाया।
महसा अमिनी की मौत के बाद हिजाब कानूनों और नैतिकता पुलिस के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के बाद से कम से कम सात लोगों के मारे जाने की खबर है। साकेज की 22 वर्षीय कुर्द महिला की तीन दिनों तक कोमा में रहने के बाद शुक्रवार को अस्पताल में मौत हो गई।
वह तेहरान में अपने भाई के साथ थी, जब उसे पुलिस ने गिरफ्तार किया था। पुलिस ने उस पर कानून तोड़ने का आरोप लगाया था, जिसमें बताया गया कि महिलाओं को अपने बालों को हिजाब या हेडस्कार्फ और अपने हाथों और पैरों को ढीले कपड़ों से ढकने की आवश्यकता है।
बताया जा रहा हैं कि पुलिस ने अमिनी के सिर पर डंडों से प्रहार किया और उसके सिर को वाहन पर पटक दिया, जिससे अमिनी कोमा में चली गई। पुलिस ने इस बात से इनकार किया है कि उसके साथ दुर्व्यवहार किया गया था। हालांकि, उसके परिवार ने कहा है कि वह बिल्कुल फिट और स्वस्थ थी। महसा अमिनी की दुखद मौत और यातना और दुर्व्यवहार के आरोपों की तत्काल, निष्पक्ष और प्रभावी जांच एक स्वतंत्र सक्षम प्राधिकारी द्वारा की जानी चाहिए।